चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग

उत्तर प्रदेश, भारत

माह - मई

  • फरवरी-मार्च में बोये गन्ने में सिंचाई उपरान्त 50 किग्रा0 नत्रजन/है0 (110 किग्रा0 यूरिया) की जड़ के पास टापड्रेसिंग करें तथा गुड़ाई करें।
  • शरदकालीन गन्ने में सिंचाई करें तथा यदि उर्वरक न दिये हों तो अंतिम टापड्रेसिंग करें।
  • चोटीबेधक व अंकुरबेधक कीटों के अण्ड समूहों को पत्ती सहित एकत्र कर नष्ट करें। इन कीटों से ग्रसित पौधों को भूमि सतह से काटकर नष्ट करें या चारे में प्रयोग करे।
  • पेड़ी गन्ना में यदि काला चिकटा कीट का आपतन हो तो इन्डोसल्फान 35 ई0सी0 का 670 मिली0 दवा/है0 5 : यरिया के घोल में मिलाकर छिड़काव के समय खेत में नमी रहना आवश्यक है।
  • देर से बोये गये गन्ने में सिंचाई करें खरपतवार हेतु गुड़ाई करें।
  • उर्वरक की बचत के साथ-साथ 10-12 : अधिक गन्ना उपज की प्राप्त होती है।