चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग

उत्तर प्रदेश, भारत

माह - दिसम्बर

  • खड़ी गन्ना फसलों में आवश्यकतानुसार सिंचाई करें।
  • अन्त: फसलों मे आवश्यकतानुसार सिंचाई के बाद उर्वरक प्रयोग करें।
  • दिसम्बर माह में काटे बाबग गन्ने की पेड़ी में अपेक्षाकृत कम फुटाव प्राप्त होता है। अच्छा फुटाव प्राप्त करने हेतु सिंचाई के उपरान्त ओट आने पर 10 टन/है0 ताजा प्रेसमड डालकर गुड़ाई करें। इससे फुटाव अच्छा होगा।
  • शरदकालीन पेड़ी में अन्त: फसल लेने पर भी अपेक्षाकृत अच्छी उपज प्राप्त होती है।
  • .चीनी मिल को गन्ना आपूर्ति करते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि गन्ना साफ-सुथरा हो तथा कटाई के उपरान्त शीघ्र चीनी मिल पहुंच जाय।
  • अन्त: फसल के रूप में मटर की फली तोड़ने के बाद उसके अवशेेषों को मृदा में दवा दें ताकि वह सड़कर हरी खाद का काम करें।
  • पाला प्रभावित क्षेत्रों में नये बाबग व पेड़ी गन्ना में सिंचाई करें ताकि पाला का प्रभाव कम हो सके।